आज भी जिन्दा है बाबर की औलादें _____________

आज भी जिन्दा है बाबर की औलादें _____________

India-:  

आज जिस तरह मीडिया और राजनेता अपने फायदे के लिए गलत news लोगो तक पहुचाते है और उनके सोचने और काम करने के तरीके से यही लगता है की आज भी ज़िंदा हो जैसे बाबर की औलादे …………

तेज रफ़्तार से चलने बाली लाइफ में  जब हम थक कर बैठते है , और इस समय हम देश के हालत की जानकारी के लिए sociale media और news channel का सहारा लेते है ! पर क्या आप जानते है की sociale media और  news channel पे आज के दिन में आगे   बड़ने और ज्यादा लाइक के  लिए ये लोग आज काफी हद तक गिर चुके है . कई TV channel और  news portel खबरों के ऐसे दिखाते और लिखते है की लोगो को कंफ्यूज कर  है .

आज के समय में आगे जाने की होड़ में ये लोग सरीफ को आतंक बादी और आतंक बादी को सरीफ तक कह देते है जिस हम खुद कंफ्यूज रहते है की कोन  सही और कौन  गलत . कई चैनल तो ऐसे इस देश में राजनेता और बिज़नस बालो के है जो हमें कंफ्यूज करते रहते है की खबर सही की नही है .

हाल ही में हुई दो घटना एक पद्मावत के विरोध में बचो सी भरी बस पर पत्थर फेकना और दूसरी कासगंज में तिरंगा यात्रा के दौरान एक बच्चे की ऊपर तेजाब फेक कर मर दिया गया . जिस में देश के बड़े चैनल की खबरों में था की पद्मावत विरोधी आतंक वादी और कासगंज में बच्चे की जान लेने बाले दुसरे समुदाय के लोग .

ऐसा लगता है की भारत में रहने बाला हर एक हिन्दू आतंक बादी और हर एक मुसलमान दुसरे समुदाय का . इन channelo की न्यूज़ देख कर ऐसा लगता है की इस देश गुलामी से तो मुक्त हो गया पर सोच अभी भी गुलामी बाली है . जो की बाबर की औलादों और अंग्रेजो द्वारा दि गई है

आज भी देश और news channel  चलाने बालो में बाबर और अंग्रेजो की औलादे दिखती है जिनका ईमान और धर्म कुछ भी नही है बस अपने फायेदे के लिए ये कभी जात ,धर्म के नाम पर लोगो को भड़काते रहते है और अपना फायदा निकाल लेते है . जब इनपे कोई इल्जाम लगाता है तो ये दुसरे द्वरा फसाये जाने का हवाला दे कर बाख निकलते है .

मेरा इस देश के लोगो से यही कहना की उखाड़ फेको ये गन्दी राजनीती और झूटे टीवी चैनल और लोगो को जो इस देश को बर्बाद करने में तुले है .

Leave a Reply

Your email address will not be published.